पेट्रोल के महंगे भाव के लिए जिम्मेदार कौन है – जानिए पूरी पड़ताल

हैल्लो दोस्तों आप सबको तो पता ही है की पेट्रोल के इस महँगेपन से पूरा भारत परेशान है जिसके चलते गरीब लोगो के लिए तो पेट्रोल खरीदना सोना खरीदने जैसा हो गया है। सबके के मन में यहीं सवाल है, की आखिर पेट्रोल इतना महंगा क्यों हुआ है। इसका जिम्मेदार कौन दोस्तों आज हम इस पोस्ट में इसी के बारे में पड़ताल करने वाले है और इसी बारे में बात करने वाले है की आखिर हमारे देश में पेट्रोल इतना महंगा क्यों हुआ और इसके लिए जिम्मेदार कौन है। चलिए जानते है

महंगे पेट्रोल के लिए जिम्मेदार कौन है

पेट्रोल इतना महंगा क्यों है ये सवाल आम जनता ने ही नहीं उठाया है बल्कि ये सवाल सांसद में उठाया गया है। ये सवाल उठाया है समाजवादी पार्टी के सांसद विश्वम्भर प्रशाद ने इन्होने ने सांसद में कहा है की सीता माता के देश नेपाल में पेट्रोल सस्ता है, रावण के देश श्रीलंका में पेट्रोल सस्ता है तो श्रीराम के भारत देश में पेट्रोल इतना महंगा क्यों है।

खुद का पेट्रोल पंप कैसे खोले पूरी जानकारी – बेस्ट बिज़नेस आईडिया

Twitter को टकर देने आ चूका है इंडियन देशी KooApp

इस सवाल का जवाब देते हुए पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा की ये पेट्रोल पदार्थ सभी के लिए नहीं है। क्या भारत खुद को ऐसी अर्थनीति से खुद से तुलना करेगी। या विश्व के बड़े बड़े अर्थनीति से तुलना करेगी। फिर इन्होने कहा की केरोसिन की कीमत। सांसद में सवाल तो पेट्रोल को लेकर उठाया गया था। लेकिन धर्मेंद्र प्रधान इस सवाल से सीधे केरोसिन पर बात करने लगे।

इन्होने ने खा की रावण और सीता के देश में सामंतवादी लोग ही पेट्रोल व डीजल का इस्तेमाल करते है। वहां की सरकार उन्हें पेट्रोल व डीजल कम कीमत में उपलब्ध करवाती है।

इससे नुकसान किसको है

भले ही कुछ भी हो लेकिन ये सच्च है हमारे देश भारत में बाकी देशों की तुलना में पेट्रोल और डीजल बहुत ज्यादा महंगा है। कहा जा रहा है की इसकी वजह कच्चे तेल के भाव में उतार चढ़ाव है लेकिन ऐसा नहीं है बल्कि इसकी मुख्य वजह पेट्रोल व डीजल पर ज्यादा टैक्स देना है। पेट्रोलियम मंत्री का तो ये मानना राज्य सरकार और केंद्र सरकार पेट्रोल व डीजल पर टैक्स लगाकर देश के विकाश के लिए पैसा जुटाने में लगी है।

दोस्तों बात वही है की चाहे कुछ भी हो जाए राज्य सरकार व केंद्र सरकार पेट्रोल व डीजल पर अपने टैक्स को कम नहीं करना चाहती है। इसको किसी को भी फायदा हो लेकिन इससे नुकसान तो जनता को ही है। ऐसे जनता का तो जीना ही हराम हो गया है। इन सब विवाद के बाद हमें नहीं लगता है की सरकार पेट्रोल और डीजल के भाव करेगी ।

उम्मीद करते है दोस्तों आपको हमारी पोस्ट पसंद आयी होगी। अगर आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी है आप हमारी पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक शेयर करे जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग इसके बारे में जान सके।

धन्यवाद

Leave a Comment